Breaking News
Home / News / इस महिला ने राहुल के घर बारात ले जाने की दी चेतावनी, इसे और वजह को जानकर आप भी करेंगे समर्थन

इस महिला ने राहुल के घर बारात ले जाने की दी चेतावनी, इसे और वजह को जानकर आप भी करेंगे समर्थन

देश के अधिकतर राज्यों में हार का सामना कर चुके राहुल गाँधी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. उनकी एक मुसीबत थमती नहीं है कि दूसरी पैदा हो जाती है. केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद से कांग्रेस देश में अपना अस्तित्व बचाने के लिए ऐसी हद तक गिरती जा रही है कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते. मोदी सरकार को सत्ता में आये हुए 4 साल से ज्यादा हो गये हैं. पीएम मोदी जी के नेतृत्व में भजपा ने इन 4 सालों में देश के अधिकतर राज्यों से कांग्रेस का सफाया कर दिया है. अब फिर से 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारियां शुरू कर दी हैं.

Image Source-satyavijayi

जानकारी के लिए बता दें पीएम मोदी जी ने देश के साथ जनता के हित में एक से बढ़कर एक शानदार कदम उठाये हैं. वहीँ कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार की टांग खींचने में लगी रहती है. दरअसल केंद्र सरकार ने मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में तीन तलाक को लेकर सख्त कानून बनाने का काम किया है, जिससे तीन तलाक के डर के चलते मुस्लिम महिलाओं को प्रताड़ना दी जाती हैं. तीन तलाक के खिलाफ मोदी सरकार सख्त कानून लाकर बिल पास कराना चाहती है वहीँ कांग्रेस नहीं चाहती है कि तीन तलाक के खिलाफ नया कानून बने. इसके पीछे की वजह ये है कि मुस्लिम संगठन भी मोदी सरकार के इस कदम का विरोध कर रहे हैं, कांग्रेस वोटरों को लुभावने के लिए यह बिल पास कराना नहीं चाहती है.

Image Source-राष्ट्र टाइम्स

कांग्रेस की इस हरकत को देखते हुए तीन तलाक और हलाला जैसी कुप्रथाओं को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाली डॉ. समीना ने ऐसा ऐलान किया है, जिसे जानकर सोनिया गाँधी के भी होश उड़ जायेंगे. जी हाँ समीना ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को चेतावनी दी है कि अगर वह संसद में तीन तलाक और हलाला जैसी कुप्रथा के खिलाफ संसद में बिल पास नहीं करवाते हैं तो वह खुद उनके यहाँ बारात लेकर जाएँगी.

Image Source-सत्योदय

गौरतलब है कि डॉ. समीना की इस चेतावनी ने कांग्रेस की नींद उड़ा दी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के साथ विपक्ष के कई ऐसे नेता हैं जो इस कानून को पारित करवाना नहीं चाह रहे हैं. ये जानते हुए भी कि इस कुप्रथा के चलते ना जानें कितनी मुस्लिम महिलाएं प्रताड़ना का शिकार होती हैं. अब देखना यह है कि संसद में क्या होता है. समीना का मानना है कि राहुल गाँधी अगर बिल पास कराने में अपना सहयोग नहीं देते हैं तो इसका मतलब यही है कि वह तीन तलाक और हलाला के पक्ष में हैं. अगर वह पक्ष में हैं तो उन्हें 4 तलाक पीड़ित महिलाओं से शादी करनी चाहिए. अगर वह फिर भी नहीं करते हैं तो समीना ने कहा है कि वह खुद ही उनके यहाँ बारात लेकर जायेंगी.

News Source-punjabkesri