Breaking News
Home / News / घुसपैठियों का समर्थन करने वाली ममता बनर्जी के भतीजे का देखिए लोकसभा में क्या हाल हुआ !

घुसपैठियों का समर्थन करने वाली ममता बनर्जी के भतीजे का देखिए लोकसभा में क्या हाल हुआ !

केंद्र की मोदी सरकार ने असम में रह रहे बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने का फरमान जारी किया है. इस लिस्ट में 40 लाख से ज्यादा लोगों को शामिल किया गया है जो अवैध तरीके से असम में रह रहे थे. इन लोगों को चिह्नित करने के लिए पिछले कई सालों से NRC(National Registered citizens) तैयार करने की बात चल रही थी और आखिरकार प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने ये कर दिखाया और 40 लाख घुसपैठियों को अब भारत को छोड़कर जाना होगा.

ममता का बेतूका बयान

केंद्र सरकार के इस फैसले का ममता बनर्जी समेत कई विपक्षी पार्टियां विरोध कर रही हैं. ममता बनर्जी ने तो एनआरसी के मुद्दे को लेकर कहा कि, ‘राजनीतिक फायदे को देखते हुए एनआरसी को तैयार किया गया है. ऐसा हम होने नहीं देंगे. लोगों को बांटने की कोशिश हो रही है और ऐसे हालात को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. देश में गृह युद्ध और खूनखराबा हो जाएगा’. अब ममता बनर्जी किस पार्टी की राजनीतिक फायदे की बात कर रही हैं ये तो सबको पता है. आखिर बांग्लादेशी घुसपैठियों से किसे फायदा पहुंच रहा था, ये बात किसी से छिपी नहीं है.

image source: Hindustan Times

अमित शाह ने दिया करारा जवाब

एनआरसी के मुद्दे को लेकर मंगलवार 31 जुलाई को संसद में भी जोरदार हंगामा देखने को मिला. विपक्षी पार्टियां एनआरसी को गलत बताते हुए बीजेपी के ऊपर हमला साध रही थी. विपक्षी पार्टियों का कहना है कि, बीजेपी समाज को बांटने की कोशिश कर रही है और अपने ही देश में लोगों को शरणार्थी बनाने की कोशिश की जा रही है. विपक्षी पार्टियों के इन आरोपों पर करारा जवाब देते हुए बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि, ‘एनआरसी का संबंध देश की सुरक्षा और देशवासियों के मानवाधिकारों की रक्षा से जुड़ा है तथा कांग्रेस समेत सभी राजनीतिक दलों को इस मुद्दे पर अपने-अपने रुख स्पष्ट करना होगा’.

image source:deccan chronicle

अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों द्वारा एनआरसी के मुद्दे पर लोगों को बहकाकर माहौल खराब करने को लेकर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि, ‘तरह-तरह की बातें फैलाई जा रही है. अलग-अलग क्षेत्रों में झगड़े जैसा एक माहौल तैयार किया जा रहा है. मैं इसकी घोर निंदा करता हूं’. इसके बाद उन्होंने बांग्लादेशी घुसपैठियों के बारे में बात करते हुए कहा कि, ‘हमारे मन में बांग्लादेशी घुसपैठियों को लेकर कोई दुविधा नहीं है, इसलिए हम नागरिकता विधेयक लेकर आए हैं, जो लोकसभा में तो पारित हो चुका है लेकिन, राज्यसभा में अभी लंबित है’.

ममता बनर्जी के भतीजे का संसद भवन में हुआ बुरा हाल

जहां ममता बनर्जी NRC के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावार रुख अपनाए हुए है, तो वहीं लोकसभा में मंगलवार को एक ऐसा वाकया हुआ जिसके बाद ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी को विकट स्थिति का सामना करना पड़ा. दरअसल, अभिषेक बनर्जी और टीआरएस सदस्य कविता को संसद में तारांकित प्रश्न पूछना था. कविता सदन में अनुपस्थित थी तो ऐसे में लोकसभा अध्यक्ष और स्पीकर सुमित्रा महाजन ने अभिषेक को ही सवाल पूछने के लिए बोला. जैसे ही अभिषेक का नाम पुकारा गया वो घबरा गए और ठीक से बोल नहीं पाए.

image source: News Desk24

टाइम्स ऑफ इंडिया के खबर के मुताबिक, जिस वक्त अभिषेक का नाम पुकारा गया उस वक्त वो सवाल पूछने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे और इस वजह से वो हड़बड़ा गए. इसके बाद सुमित्रा महाजन ने उनसे कई बार सवाल पूछने के लिए आग्रह किया, लेकन फिर भी वो तैयार नहीं दिखे. इसके बाद स्पीकर ने कहा कि, ‘अगर आप सवाल पूछने के लिए तैयार नहीं हैं तो आप रहने दीजिए’. इसके बाद ममता बनर्जी की पार्टी के वरिष्ठ नेता सुगाता बोस और सौगत राय ने अभिषेक की मदद की सवाल पूछने में. लेकिन तब तक पूरे सदन में हंसी का माहौल बन चुका था और इस घटनाक्रम के बाद सत्ता पक्ष के लोग हंस पड़े थे.

NEWS SOURCE: Zee News